हिम्मत जुटे तो करो पोड़ी रेत खदान के खिलाफ आंदोलन – पांच हेक्टेयर से कम क्षेत्र के बावजूद भी मशीनों से हो रहा अवैध उत्खनन

हिम्मत जुटे तो करो पोड़ी रेत खदान के खिलाफ आंदोलन
– पांच हेक्टेयर से कम क्षेत्र के बावजूद भी मशीनों से हो रहा अवैध उत्खनन

मध्य प्रदेश जिला सीधी। जिले में रेत खदान चालू होने के बाद कुछ ऐसी खदानें हैं जहां प्रशासन द्वारा नियमों को दरकिनार कर कार्यवाही करने से परहेज कर रहा है। दरअसल शासन की गाइडलाइन के अनुसार पांच हेक्टेयर से कम खदानों में यदि मशीनों का उपयोग किया जाता है तो उसके खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए। लेकिन इसका पालन जिले के अधिकारी नहीं कर रहे हैं। जिस वजह से संबंधित पंचायतों के मजदूर आज भी रोजगार के लिए परेशान हो रहे हैं। इस मामले में जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों की अनदेखी मानी जा सकती है। जो कांग्रेस के नेता एवं अन्य लोग दूसरे खदान को लेकर टिप्पणी कर रहे थे यदि उनमे हिम्मत हो तो पोड़ी खदान में मशीन रोकने को लेकर आवाज बुलंद करेंं।
शासन द्वारा रेत खदान इसीलिए चालू किया गया था कि खदान के माध्यम से मजदूरो को काम मिलेगा इसके लिए सरकार ने गाइडलाइन तय किया था कि जिन खदानों में पांच हेक्टेयर से कम क्षेत्र है वहां मशीनों का उपयोग पूर्णत: वर्जित रहेगा। उन खदानों में मजदूरो के माध्यम से काम कराया जाएगा। लेकिन इसका पालन नहीं हो पा रहा है। जिले के कुसमी ब्लाक अंतर्गत पोड़ी में संचालित रेत खदान में इसका ताजा उदाहरण देखने को मिल सकता है। जहां कि खदान संचालित होने के बाद ही यहां मजदूर भले ही भटक रहे हैं लेकिन मशीनों से काम धड़ल्ले से कराया जा रहा है। इस खदान में काफी मशीनें लगी हुई हैं जिस वजह से स्थानीय मजदूरो को काम नहीं मिल पा रहा है। काम पर जाने वाले मजदूर जब खदान जाते हैं तो उन्हे डाटकर भगा दिया जाता है। ऐसी स्थिति में सरकार के नियमों के खिलाफ खदान संचालक के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। हालांकि खदान के लोडिंग का काम देखने वाले मजदूरो के साथ अनदेखी कर रहे हैं। जिसका नतीजा है कि मजदूर काम के लिए दर-दर भटकने को मजबूर हैं। ऐसी स्थिति में प्रशासनिक अमले द्वारा यदि पहल की जाती तो नियम के तहत मशीनों का उपयोग पर प्रतिबंध लग सकता था लेकिन कही न कहीं जिम्मेदार अधिकारियों की भी अनदेखी मानी जा सकती है। यही वजह है कि पोड़ी रेत खदान में नियम के विपरीत मशीनों का धड़ल्ले से उपयोग हो रहा है।
मजदूरो को हर हाल में मिले काम : उमेश
क्रांतिकारी मोर्चा के जिला संयोजक उमेश तिवारी ने कहा कि यह गलत है कि नियम के विपरीत पोड़ी खदान में मजदूरो को काम से वंचित किया जा रहा है। जहां की मशीनों का उपयोग हो रहा है। उन्होने कहा कि मजदूरो को हर स्थिति में काम मिलना चाहिए। श्री तिवारी ने कहा कि यह भी सही है कि इसकी जानकारी अधिकारियों को भी है लेकिन वे कार्यवाही करने से परहेज कर रहे हैं। शासन के गाइड लाइन के विपरीत काम करने वाले खदानों पर यदि कार्यवाही नहीं होती तो इसकी आवाज उठाई जाएगी।
निश्चित रूप से की जाएगी कार्यवाही : एसडीएम
कुसमी एसडीएम आरके सिन्हा ने कहा कि शासन के गाइडलाइन के विपरीत यदि किसी भी खदान में काम मशीन से किया जाएगा तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। उन्होने कहा कि मुझे भी जानकारी मिली है कि पोड़ी खदान में पांच हेक्टेयर से कम क्षेत्र होने के बाद भी वहां मशीनों का उपयोग किया जा रहा है। आने वाले एक-दो दिन में कार्यवाही की जाएगी
नियम के विपरीत खदानों पर होगी कार्यवाही : कलेक्टर
कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने कहा कि शासन के गाइडलाइन के विपरीत जो भी खदाने मजदूरो को काम देने की वजाय मशीनों का उपयोग कर रहे हैं उनके खिलाफ कार्यवाही करने के लिए संबंधित एसडीएम को निर्देशित किया जाएगा। यदि इसमे भी लापरवाही बरती गई तो ऐसे खदानों पर कार्यवाही अभियान भी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *