कवियों ने बांधी समां देर रात तक पूजापार्क में डटे रहे श्रोता

कवियों ने बांधी समां देर रात तक पूजापार्क में डटे रहे श्रोता

– सोनांचल महोत्सव में आयोजित विराट कवि सम्मेलन को लेकर श्रोताओं की रही काफी भीड़

मध्य प्रदेश जिला सीधी। पहली बार आयोजित सोनांचल महोत्सव को लेकर जिले के लोगों में खासा उत्साह रहा। जहां कि कार्यक्रम के आयोजक एड. इन्द्रशरण सिंह चौहान की लोगों ने काफी प्रशंसा भी किये। इस दौरान मध्यप्रदेश शासन के दो मंत्री सहित स्थानीय नेता भी मौजूद थे। वहीं कार्यक्रम में कवि सम्मेलन में देश के चर्चित कवियों ने देर रात तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करते रहे। श्रोताओं की तालियों की गडग़ड़ाहट से कवि भी काफी उत्साहित दिखे। इसके पहले लोक कला नृत्य में भी कार्यक्रम को चार चांद लगा दिया।
पूजापार्क में आयोजित विराट कवि सम्मेलन के दौरान देश से प्रतिष्ठित ख्याति प्राप्त कवि उपस्थित थे जिन्होने कविता के माध्यम से ऐसी समा बांधी की देर रात तक श्रोता कार्यक्रम स्थल में बराबर डटे रहे। जाने-माने कवियों में दिल्ली से पद्मश्री सुरेन्द्र शर्मा हास्य कवि हैं जिन्होने कविता के माध्यम से श्रोताओं को हंसाते हुए लोट-पोट कर दिये। एक से बढ़कर एक उनके द्वारा पढ़ी गई कविता की काफी चर्चाएं थी वहीं दिल्ली से सुनीत जोगी हास्य कवि ने भी अपनी कविता को इस तरह बिखेरा की सुनने वाले भीषण ठंड के बाद भी कार्यक्रम स्थल से हटने को तैयार नहीं हुए। इतना ही नहीं कवियों में अलवर राज ओज संम्राट, डॉ. कीर्तिकाले दिल्ली श्रृंगार, गजेन्द्र वियांशू उत्तर प्रदेश गीत, अंकिता सिंह गुरूग्राम हरियाणा श्रृंगार के अलावा स्थानीय कवियों में डा. राजकरण शुक्ला राज, डॉ. शिवशंकर मिश्र सरस, सौरभ सिंह एवं रामबदन जायसवाल ने भी अपनी कविता में श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किये। कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री मुख्य अतिथि बतौर सुश्री ऊषा ठाकुर मंत्री संस्कृति पर्यटन एवं अध्यात्म विभाग की विशेष उपस्थिति रही। वहीं पंचायत मंत्री रामखेलावन पटेल सहित सांसद रीती पाठक, विधायक चुरहट एवं प्रदेश महामंत्री शरदेन्दु तिवारी तथा धौहनी विधायक कुंवर सिंह टेकाम भी उपस्थित रहे। इन सबके अलावा पूरे कार्यक्रम में कई पदाधिकारी की मौजूदगी बनी रही वहीं कार्यक्रम में श्रोताओं ने पूरे कार्यक्रम को आयोजक की भूरि-भूरि प्रशंसा भी किये हैं। इस दौरान कार्यक्रम में प्रमुख सहयोग देने वालों में डॉ. अनूप मिश्रा, अशोक सिंह बाबा, बद्री मिश्रा, कमल कामदार, दीपक गुप्ता, जीतेन्द्र सिंह चौहान, प्रमोद द्विवेदी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

*आयोजक ने सुनाई खरी-खरी बातें*
सोनांचल महोत्सव के आयोजक एड. इन्द्रशरण सिंह चौहान द्वारा मंच के माध्यम से ही स्वागत भाषण के दौरान खरी-खरी बातें सुनाने में पीछे नहीं रहे। उन्होने स्पष्ट लहजे में कहा कि कुछ लोग इस महोत्सव को लेकर तंज कसने लगे हैं कि सरकार का पैसा हम खा रहे हैं। उन्होने स्पष्ट बताया कि शासन द्वारा पर्यटन विभाग से तीन लाख रूपये आया है जो कि कलेक्टर विभाग के खाते में गया था। जिन्हे कि रंगमंच के कलाकारो को चेक के माध्यम से वितरित किया गया है। फिर भी मेरे खिलाफ आरोप मढऩे वाले यह भी देखें कि हमने कम समय में इतने बड़़े कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं। कही न कहीं मुझे भी पीड़ा हो रही है कि मेरे इस सफल कार्यक्रम में भी जिन्होने कोई सहयोग नहीं दिया उन्हे क्यों दर्द हो रहा है।

*संस्कृत मंत्री बघेली पीठ के स्थापना की किये घोषणा*
सोनांचल महोत्सव के बहुरंगी और भव्य आयोजन मे मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित मध्यप्रदेश शासन की संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री ऊषा ठाकुर द्वारा बघेली पीठ के स्थापना की घोषणा की गयी। यह घोषणा मंत्री द्वारा आयोजन के अध्यक्ष इन्द्रशरण सिंह चौहान के द्वारा लिखित प्रस्ताव देने तथा विशेष ध्यान दिलाने पर की गयी। इस कार्य के लिए बघेली के प्रतिष्ठित साहित्यकार डॉ. शिव शंकर मिश्र सरस कई सालों से निरन्तर प्रयास कर रहे थे। डॉ. सरस ने महोत्सव के अध्यक्ष को लिखित मागपत्र सौंपते हुए इसे पूरा कराने का बार-बार अनुरोध किया था। अब पीठ स्थापित हो जाने से लोकभाषा बघेली और बघेली संस्कृति पर विस्तार से काम हो पायेगा। बघेलखण्ड की सम्पन्न लोक परम्पराओं, इतिहास, साहित्य, कला आदि समस्त लोक सम्पदा को खोजना, शोध करना, प्रकाशन करना एवं प्रतिभाओं को अवसर उपलब्ध कराने जैसा महत्वपूर्ण कार्य हो सकेगा। शासन स्तर से होने वाले इस कार्य से निश्चित ही लोकभाषा बघेली विकास कर सकेगी।
::::::::::::

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *