सीधी नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस से दावेदारों में दान बहादुर का नाम सुर्खियों में

सीधी नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस से दावेदारों में दान बहादुर का नाम सुर्खियों में

मध्य प्रदेश जिला सीधी जी हां हम बात कर रहे हैं सीधी नगरीय निकाय चुनाव को लेकर भले ही तिथि तय नहीं हुई है लेकिन दावेदारों की संख्या भाजपा एवं कांग्रेस में कम देखने को नहीं मिल रही है। दोनों ही पार्टी के नेता अध्यक्ष पद के दावेदारो के लिए प्रयास कर रहे हैं। स्थिति यह है कि तीन बार लगातार भाजपा के अध्यक्ष नपा में काविज रहे इस वजह से इस बार कही न कहीं जनता नये अध्यक्ष बनाने की मूड़ में हो सकती है। कारण कि भाजपा के शासनकाल में कोई विशेष कार्य न होने के कारण यदि कांग्रेस से चर्चित नेता को टिकट मिलेगा तो सफलता अर्जित हो सकती है।
नपा चुनाव को लेकर कांग्रेस से भी कई दावेदार हैं। पर्यवेक्षक के पास करीब दर्जन भर दावेदारो का नाम जा चुका है। लेकिन जिन्होने पार्टी के लिए जिन्दगी गुजार दी है उन्हे भी अब महत्व देने की जरूरत है। वर्ष १९५२ से पुस्तैनी कांग्रेस से जुड़े डैनिहा निवासी दान बहादुर सिंह चौहान किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। वे कांग्रेस के लिए सदैव समर्पित भाव से काम करते आ रहे हैं। जिन्होने कभी टिकट की मांग भी नहीं कि लेकिन इस बार सूत्रों की मानें तो नगर पालिका चुनाव में उनके द्वारा भी अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी पेश की गई है। कारण भी है कि जिनका पूरा घराना लम्बे अर्से से कांग्रेस के लिए काम कर रहा है जिन्हे कि पार्टी द्वारा विशेष पद से भी नहीं नवाजा गया मात्र जिला उपाध्यक्ष कांग्रेस से ही उन्हे संतुष्ट होना पड़ा। इसके बाद भी वे कभी पार्टी के प्रति नाराजगी नहीं जाहिर किये। जाहिर है कि अब उनका भी हक होता है कि नगर पालिका में ही उन्हे यदि पार्टी के शीर्ष नेता टिकट देंगे तो उनका भी वजूद नपा क्षेत्र में कम नहीं है। नपा के पूर्व अध्यक्ष एवं ग्रामीण विद्युत सहकारी समिति के दो बार अध्यक्ष रहे स्व. के.के. सिंह के छोटे भाई दान बहादुर सिंह के नाम की चर्चा नगर पालिका में जोरो पर है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस ने फिर गलती की तो इसका फायदा भाजपा को हो सकता है। यद्यपि सूत्रों की मानें तो दान बहादुर को इस बार टिकट मिलने की ज्यादा उम्मीदे दिख रही हैं। कारण कि वे न कभी ठेकेदारी किये न ही भ्रष्टाचार की कोई शिकायत उन पर है। आम जनता से सदैव मिलने के कारण ही वे नपा के सभी वार्डों में सुर्खियों में हैं।

*सभी के साथ तालमेल बनाने वाले हैं दान बहादुर*

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दान बहादुर सिंह सभी नेताओं के साथ तालमेल बनाकर सदैव चलते आ रहे हैं। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल सहित पूर्व मंत्री रहे स्व. इन्द्रजीत कुमार से भी उनका अच्छा संबंध रहा है। वर्तमान में पर्यवेक्षक ने जितने भी नाम लिए थे उसमे आम जनता की मानें तो दान बहादुर प्रमुख रूप से सुर्खियों में हैं। यदि उन्हे टिकट मिलता है तो नपा अध्यक्ष की कमान कांग्रेस के हाथ में जाने की उम्मीद मानी जा सकती है।

*राहुल के भरोसे है टिकट वितरण की जिम्मेवारी*

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल जिले के हर कांग्रेसी को भलीभांति जानते हैं। उनके द्वारा भी अब भांप लिया गया होगा कि किसे टिकट देने से पार्टी को फायदा हो सकता है। ऐसी स्थिति में दान बहादुर सिंह डैनिहा को टिकट मिलने की ज्यादा उम्मीदें हैं। व्यापारी वर्ग सहित गरीब तबके एवं हर जाति, धर्म के लोगों का उनके प्रति अपनापन बराबर बना हुआ है। यही कारण है कि यदि उन्हे टिकट मिला तो उनकी जीत होने की ज्यादा उम्मीदें हैं।

*पार्टी के निर्णय का करेंगे सदैव स्वागत : दान बहादुर*

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दान बहादुर सिंह चौहान ने कहा कि हम भी चाहते हैं कि सदैव कांग्रेस पार्टी के लिए हमारा परिवार वर्ष १९५२ से काम कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में नगर पालिका चुनाव में भी यदि हमे पार्टी महत्व देगी तो हम पार्टी के प्रति सदैव आभारी रहेंगे। यद्यपि उन्होने कहा कि जो भी निर्णय पार्टी लेगी हम उनका स्वागत करेंगे परन्तु नगर पालिका की जनता की मांग की वजह से हमने भी नपा में अध्यक्ष पद के लिए पार्टी की ओर से दावेदारी पेश की है।
:::::::::::::::

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *