दूसरे दिन भी जारी रहा हाथियों का ताण्डव कोटा में एक घर को बनाया निशाना

दूसरे दिन भी जारी रहा हाथियों का ताण्डव
कोटा में एक घर को बनाया निशाना

मध्य प्रदेश जिला सीधी जी हां हम बात कर रहे हैं आदिवासी बाहुल्य जनपद पंचायत कुशमी अन्तर्गत संजय टाईगर रिजर्व एरिया में हाथियों के झुंड का ताण्डव थमने का नाम नहीं ले रहा है। लिहाजा संजय टाईगर रिजर्व एरिया अन्तर्गत आने वाले दर्जन भर गांव में निवास करने वाले ग्रामीणों की हर रातें दहशत के साए में गुजर रही हैं।
बताया गया कि रविवार की मध्यरात्रि को कोटा गांव में फिर एक साहू के खपरैल मकान को जंगली हाथियों के झुंड ने निशाना बनाते हुए जहां मकान को ध्वस्त कर दिया। वहीं घर में रखी खाद्य सामग्री चावल, गेहूं, दाल आदि को हजम कर गए। घटना के संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक बीते रविवार की मध्यरात्रि तकरीबन 1.30 बजे हाथियों का झुंड गांव के उत्तरी क्षेत्र के संजय टाईगर रिजर्व बफर एरिया के भैंसा डोल के जंगलों में विचरण करते हुए ग्राम पंचायत कोटा गांव पहुंच गया। बताया गया कि हाथियों का झुंड जंगलों से निकल कर गांव में पहुंच कर दशोमत साहू पिता भोला साहू के गेहूं की खड़ी फसल को खाते, रौंदते हुए महबीर साहू पिता रामसुंदर साहू के घर पहुंच गए और कुछ हाथी घर के पास लगे केला के पेड़ों को उखाड़ कर केला गए तो कुछ हाथियों ने खपरैल मकान को ध्वस्त कर घर के अंदर रखे अनाज को हजम कर गए। हाथियों के झुंड की आहट सुनकर साहू परिवार के सदस्य घर से भाग खड़े हुए और गांव में अफरा तफरी मच गई। ग्रामीणों के द्वारा हाथियों के झुंड के आने की सूचना वन विभाग के कर्मचारियों को दी गई। सूचना उपरांत वन अमला गांव में पहुंच गया था तथा गांव के लोग अपने घरों के बाहर निकल कर शोर शराबा करते हुए हाथियों को गांव से बाहर खदेड़ने का प्रयास किया गया। तत्पश्चात हाथियों का झुंड फिर से भैंसा डोल के जंगलों की ओर चले गए।
सोमवार की सुबह हाथियों के झुंड द्वारा मकान ध्वस्त करने की सूचना हल्का पटवारी को दी गई। सूचना उपरांत राजस्व निरीक्षक मण्डल पोंडी मणिराज सिंह, परिक्षेत्र सहायक श्रीनिवास सेन, ग्राम प्रधान जगन्नाथ बैगा, बीट गार्ड हरीश कुमार गिरि, हल्का पटवारी ददरी राजेश कुमार कोरी घटनास्थल पर पहुंच कर मौका मुआयना करते हुए ग्रामीणों की उपस्थिति में पंचनामा तैयार कर छतिपूर्ति का आकलन किया गया। खबर लिखे जाने तक हाथियों के झुंड की लोकेशन रैगना पटपर के जंगलों में बताई जा रही है। आस पास के गांव के लोग काफी दहशत में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *