बिजली विभाग के तानाशाह रवैये से जनता है त्रस्त:- बुढार समाचार

बिजली विभाग के तानाशाह रवैये से जनता है त्रस्त:-
बुढार समाचार
==========================
शहडोल जिले के बुढार विद्युत मंडल एवं धनपुरी के विद्युत मंडल में जिस प्रकार के तानाशाही रवैया अपना कर रखे हुए हैं उससे लगता है कि अधिकारी मस्त जनता त्रस्त।
* अधिकारीयो की चल रही है हिटलर शाही
*विधुत मंडल बुढार और धनपुरी में नही उठता है फ़ोन।
*शिकायत करने के बाद नही पहुँचते है कर्मचारी
………………………………………………
कहते हैं विभाग के अधिकारी जनता की सेवा के लिए होते हैं परंतु इन दिनों जिले के बुढार और धनपुरी में बिजली विभाग के अधिकारी एक अलग ही दुनिया में जी रहे है. जहां आम लोगों को तुच्छ नजर से देखा जाता है. आलम यह है कि दिन-दिन भर बिजली गायब रहती है और पूछे जाने पर अधिकारी जबाब तक नहीं देते. शनिवार को बुढार और धनपुरी प्रखंडों में बिजली आपूर्ति का बुरा हाल रहा.यहां दिन में 4 घंटे और रात में 12.30बजे बिजली गुल रही. जिस कारण बुढार और धनपुरी प्रखंड के लोग अंधकार में रहने को विवश हो गए.
एक तरफ सरकार जहां पूरे प्रदेश में चौबीसों घंटे बिजली दे रही है वहीं दूसरी तरफ विभागीय अधिकारियों के मनमानीपूर्ण रवैये के कारण अघोषित बिजली कटौती जारी है जिससे लोग क्षुब्ध हो रहे हैं और विभाग के खिलाफ रोष बढ़ता जा रहा है ।
पूरी रात अंधेरे में डूबा रहा कोयलांचल आक्रोशित जनप्रतिनिधियों एवं युवाओं का दल आधी रात को पहुंचा थाने: विगत 23 जून को सुबह से ही कोयलांचल क्षेत्र में बिजली आंख मिचोली खेलती रही। दिनभर कई घण्टो नदारत रहने के बाद जब शाम को बिजली आई तो लोगो को लगा कि रात ठीक कटेगी। लेकिन रात होते ही पूरा कोयलांचल फिर अंधेरे में डूब गया। जब आधी रात तक बिजली नही आई और न ही विभाग के अधिकारियों ने फ़ोन उठाना मुनासिब समझा तब धीरे धीरे लोगो का गुस्सा बढ़ने लगा, और रात के 1 बजते बजते विद्युत मण्डल कार्यालय में लोगो एवं जनप्रतिनिधियों के जमावडा होने लगा। युवा विद्युत मण्डल के इस रवैये से इतना आक्रोशित हो गए कि स्थिति बिगड़ने लगी, बुढ़ार थाने से पहुचे दल ने लोगो को समझाने का प्रयास किया तब कँही जाकर स्थिति सामान्य हुई जिसके बाद जनप्रतिनिधियों एवं युवाओं का एक दल बुढ़ार थाने पहुचा एवं बुढ़ार में पदस्थ सहायक अभियंता (J.E.) एवं मुख्य अभियंता (A.E.) के खिलाफ शासन की जिम्मेदारीयो का ठीक से निर्वहन ना करने की शिकायत दर्ज कराई एवं कार्यवाही की मांग की। प्रतिनिधि दल में मुख्य रूप से श्री पुष्पराज सिंह, योगेंद्र सिंह, शैलेन्द्र श्रीवास्तव, जुगुल मिश्रा, रजनीश प्रधान, सानू बग्गा, धनन्जय मिश्रा, आनन्द बारी, अजय शर्मा, दिलिप सोनी, प्रकाश, अमन तोदी , योगेश, पीयूष एवं कई अन्य युवा मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *