संघर्षो के बीच प्रकाश परिहार बने सीधी युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष।

संघर्षो के बीच प्रकाश परिहार बने सीधी युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष।

क्या युवा कांग्रेस में जारी है उठा पठक लोकसभा का पद हटाया दो जिला अध्यक्ष बने ?

क्या संगठन के मंसानुसार रंजना मिश्रा नहीं चला पायी लोकसभा अध्यक्ष का कार्यकाल ?

क्या संगठन में एकजुटता ना होने कारण कमजोर हो गयी सीधी की पूर्व लोकसभा अध्यक्ष ?

म.प्र. जिला सीधी बहुप्रतिक्षित युवा कांग्रेस की कार्यकारिणी आखिरकार गठित हो गई । इस बार युवा कांग्रेस में अपने संगठनात्मक ढाचे में बदलाव किया है। जिसमें लोकसभा की सम्पूर्ण कमेटी को भंग करते हुए जिला कमेटी बनाई गई है। लेकिन युवा कांग्रेस ने विवादों को समाधान करने के बजाय कार्य को महत्व दिया है। म.प्र. में इसी वर्ष चुनाव होने है जिसकों दृष्टगत रखते हुए वर्तमान कमेटी बनाई गई है, जिसमें सीधी विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष प्रकाश परिहार को जिले का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। वहीं रंजना मिश्रा का कद घटाते हुए लोकसभा से जिला अध्यक्ष बना दिया गया है। बता दे कि युवा कांग्रेस की लोकसभा कमेटी में जबरजस्त आक्रोश और गुटवाजी देखी जा रही थी पूरी कमेंटी बिखर गयी थी। गंभीर पदाधिकारी तितर-वितर हो गये थे। इसका एक मूल कारण था, लोकसभा के पदाधिकारियों से बिना विचार-विमर्श किए प्रकाश परिहार को हटाये जाने का प्रस्ताव और सीधी में कार्यकारी अध्यक्ष बनाये जाने से नाराज हो गये थे समस्त पदाधिकारी। टीम बिखर गई तो विरोध भी हुआ जिसके कारण रंजना मिश्रा संगठनात्मक रुप से काफी कमजोर हो गई। जिसका परिणाम प्रकाश परिहार को हटाए जाने के बजाय प्रमोशन दिया गया और रंजना मिश्रा को लोकसभा के स्थान पर एक समान पद प्रदान किया गया है। पद भले आबंटित कर दिये गए हो, लेकिन युवा कांग्रेस की गुटवाजी चरम सीमा पर है। पदाधिकारी नाराज है और वर्तमान कार्यकारिणी विस्तार में भी अच्छे और बौद्धिक पदाधिकारियों को भी नजर अंदाज किया गया है। संगठन ने चाहे जो सोचकर विस्तार किया हो लेकिन परिणाम अच्छे नहीं होने की संभावना है फिलहाल प्रकाश परिहार को जिला कार्यकारी अध्यक्ष बनाये जाने पर – पूर्व मंत्री इन्द्रजीत कुमार, कमलेश्वर द्विवेदी, कमलेश्वर पटेल, रुद्र प्रताप सिंह बाबा, चिंतामणि तिवारी, आनन्द सिंह चैहान, कन्हैया सिंह, राजेन्द्र सिंह भदौरिया, रोहित मिश्रा, बृजेश तिवारी, हरिहर गोपाल मिश्रा, ज्ञानेन्द्र द्विवेदी, ज्ञान सिंह चैहान, बसन्ती देवी कोल, विनोद वर्मा, अरविन्द तिवारी, अशोक कोरी, आकाश सिंह चैहान (रिन्कू), अंशुमान सिंह, विनय मिश्रा, संदीप द्विवेदी, पंकज सिंह डैनिहा आदि सैकड़ो कांग्रेसियों ने खुशी जाहिर की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *