मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: पूर्व मंत्री तक पहुंच सकती है CBI जांच, बेटे को JDU ने निकाला

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: पूर्व मंत्री तक पहुंच सकती है CBI जांच, बेटे को JDU ने निकाला

बालिका गृह रेप मामले में भूमिका को लेकर दामोदर रावत पर भी सवाल उठ रहे हैं. सीबीआई को यह भनक है कि उनके बेटे राजीव रावत के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से गहरे संबंध हैं.

बिहार के मुज़फ्फरपुर शेल्टर होम रेप कांड में सीबीआई की जांच जेडीयू के नेता और पूर्व समाज कल्याण मंत्री दामोदर रावत तक पहुंच सकती है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दामोदर रावत ने मंत्री रहते हुए मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की जमकर मदद की है. अभी भी उनके बेटे राजीव रावत के ब्रजेश ठाकुर से बेहद करीबी संबंध थे.
इसका खुलासा होने पर जेडीयू ने राजीव रावत को पार्टी से निकाल दिया. राजीव युवा जेडीयू के प्रदेश महासचिव थे जिन्हें पार्टी से निकाल दिया गया है. इसकी जानकारी युवा जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुशवाहा ने दी. मुजफ्फरपुर मामले में भूमिका को लेकर पूर्व मंत्री दामोदर रावत पर भी सवाल उठ रहे हैं. रावत अभी विधायक नहीं हैं. सीबीआई को यह भनक है कि उनके बेटे राजीव रावत के प्रगाढ़ संबंध ब्रजेश ठाकुर से हैं.
जानकारी के मुताबिक जब भी राजीव मुजफ्फपुर जाते थे तो ब्रजेश ठाकुर के ही होटल में ठहते थे. वहां कई लोगों का आना-जाना लगा रहता था. दरअसल इस मामले में कई और लोगों की भूमिका की जांच सीबीआई कर रही है.
जेडीयू की इस कार्रवाई पर तेजस्वी ने पलटवार किया है. तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए पूछा कि नीतीश जी आपके साथ 10 साल मंत्री रहे और वर्तमान मे आपके प्रदेश उपाध्यक्ष, उनके सुपुत्र आपकी पार्टी के महासचिव व राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य यानि दोनों पिता-पुत्र के आपके उम्मीदवार रह चुके बलात्कार कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से गहरे संबंध हैं. उन्हें कब बर्खास्त कर रहे हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *