*सुपौल में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के बच्चीयों के ऊपर हमला के खिलाफ।*

*सुपौल में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के बच्चीयों के ऊपर हमला के खिलाफ।*

*बीएड कोर्स में बेतहाशा फीस वृद्धि मामले के खिलाफ*
*आइसा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका*
*◆हमलावरों को गिरफ्तार करो*
*◆बीएड फीस बृद्धि वापस लो*
बिहार जिला बेतिया,8अक्टूबर 2018
ऑल इंडिया स्टूडेंट्स असोसिएशन (आइसा)ने सुपौल जिला के डपरखा मिडिल स्कूल स्थित कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय की दर्जनों छत्राओं के साथ अश्लील हरकत करने और बच्चीयों द्वारा विरोध करने पर लाठी डंडे से पिटाई करने एवं बीएड कोर्स में बेहताशा फीस बृद्धि के खिलाफ शोवा बाबू चौक पर नीतीश मोदी शर्म करो,दलित ,महिला,बच्चीयों पर हमला बन्द करो,बीएड फीस बृद्धि वापस लो के नारे के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका।आइसा नेताओ ने कहा कि नीतीश-मोदी राज में मुज़फ्फरपुर,पटना बालिका गृह की आग अभी बुझी भी नही थी की सुपौल में कस्तूरबा गांघी आवासीय बालिका विद्यालय में जिस तरह की दिन के उजाले में स्कूल परिसर में जाकर पहले अश्लील हरकत किरने और जब बच्चीयो और शिक्षिका द्वारा विरोध करने पर लम्पट लड़को द्वारा लाठी- डंडे से लैस हमलावरों ने छात्राओं को दौड़ा दौड़ा कर पिटाई करने, और छात्राओ को बचाने आयी वार्डन और शिक्षिकाओ को भी बुरी तरह से पिटाई किया गया, नेताओ ने कहा कि इस हमला में तीन महिला सहित दर्जनों छात्राए घायल हुई है। जिसमे 34 छात्राओ को त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्तपाल में भर्ती कराया गया है, शेष बच्चीयों का विद्यालय में ही इलाज चल रहा है,नेताओ ने कहा कि हमलावरों की यह साहस कहा से मिल रही है,जो इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे है,लगतार हो रही उत्पीड़न पर रोक लगाने में फेल नीतीश कुमार को चुलु भर पानी मे डूब मरना चाहिए,नेताओ ने आगे कहा कि नीतीश भाजपा राज में बच्चीया न घर मे, न सड़क पर,न स्कूल में, न हॉस्टल में, न बालिका गृह में कही भी सुरक्षित नही है,आइसा नेताओ ने कहा कि दलितों, महिलाओ, बच्चीयों पर हमला बन्द करो,और हमलावरों को गिरफ्तार करो, बच्चीयों की इलाज का समुचित इतंजाम करो।वही दूसरी तरफ आइसा नेताओ ने कहा है कि नीतीश सरकार ने शिक्षा के निजीकरण का चैतरफा रास्ता खोल दिया है. बीएड का कोर्स खासकर पैसा कमाने का जरिया बन गया है. इस कोर्स में बिहार सरकार ने 95 हजार रु. तय किया था लेकिन नीतीश राज में कुकुरमुत्ते की तरह उग आए प्राइवेट बीएड काॅलेजों ने इसके खिलाफ पटना उच्च न्यायालय में मुकदमा दायर किया और बीएड कोर्स में 50 हजार रु. की बढ़ोतरी करवा ली. यह छात्रों के साथ घोर मजाक है. साथ ही शिक्षा को निजी हाथों में सौंपने और उसे बाजार के हवाले कर देने का ठोस उदाहरण है.
बीएड कोर्स में इस फीस वृद्धि के खिलाफ आइसा के नेतृत्व में छात्र समुदाय पहले ही दिन से आंदोलित है. भोजपुर के वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में छात्र विगत 7 दिनों से अनिश्चतकालीन हड़ताल पर है. लेकिन विश्ववि़द्यालय प्रशासन बिलकुल संवेदनहीन बना हुआ है. विवि के पदाधिकारियों के साथ 3-4 राउंड वार्ता भी हुई लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला. अनशन पर बैठे कई छात्रों की हालत बिगड़ती जा रही है.
ऐसी स्थिति में आज पुतला दहन के माध्यम से बिहार के राज्यपाल सह कुलाधिपति से इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप की मांग करते है. बीएड कोर्सों में की गई 50 हजार रु. की फीस वृद्धि अविलंब वापस ली जानी चाहिए तथा अनशन पर बैठे छात्रों का अनशन समाप्त करवाना चाहिए.इस मौके पर आइसा नेत्री सह mjk कॉलेज छात्रसंघ महासचिव निखिता कुमारी,आइसा जिला अध्यक्ष संजीत कुमार कुमार,रामबाबू कुमार,सुधांशू शेखर,चन्दन कुमार,नितेश कुमार तिवारी, सुनील कुमार यादव,सुरेंद्र चौधरी इत्यादि नेताओ ने भी सभा को सम्बोधित किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *