सोनिया गांधी के नाम दिग्विजय का फर्जी पत्र हुआ वायरल, दावेदारों को टिकट दिलाने का जिक्र …

सोनिया गांधी के नाम दिग्विजय का फर्जी पत्र हुआ वायरल, दावेदारों को टिकट दिलाने का जिक्र …

राहुल सिंह गहरवार प्रधान संपादक स्वतंत्र इंडिया लाइव7

भोपाल| फर्जी फोटो शेयर कर सोशल मीडिया पर कई बार ट्रोल हो चुके पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का सोशल मीडिया पर अब एक पत्र वायरल हो गया है, जो सोनिया गाँधी को लिखा गया है| दिग्विजय सिंह ने इस पत्र को फर्जी बताकर खुद ट्वीटर पर शेयर किया है| इस फर्जी पत्र में दिग्विजय सिंह 57 नाम विधानसभा के लिए प्रस्तावित कर रहे हैं।

दरअसल, मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन को लेकर कांग्रेस में माथापच्ची चल रही है| दिल्ली में सभी बड़े नेता इस पर विचार कर रहे हैं. वही खबरें यह भी हैं दावेदार अपने नेताओं से जोर लगा रहे हैं और बड़े नेता भी अपने समर्थकों को टिकट दिलाने पर अड़े हैं| कई सीटों पर नेताओं की आपसी सहमति के कारण प्रत्याशी का नाम भी फाइनल नहीं हो पा रहे हैं| इस बीच सोशल मीडिया पर लीक हुआ एक पत्र चर्चा का विषय बन गया है| दिग्विजय सिंह ने इस पत्र को स्वयं अपने ट्वीटर पर शेयर किया है और कहा है यह पत्र मेने नहीं लिखा है यह फ्रॉड है| अब सवाल खड़ा होता है कि आखिर किसने दिग्विजय को लेकर यह पत्र वायरल किया है| इस पत्र में अपने दावेदारों को टिकट दिलाने की मांग की गई है, और पार्टी में उनकी उपेक्षा का भी जिक्र है| इससे पहले भाजपा नेता के इस्तीफ़ा का पत्र भी वायरल हुआ था, अब दिग्विजय के लेटर हेड पर लिखा पत्र वायरल हुआ है, जो कई सवाल खड़े कर रहा है|

बता दें कि नर्मदा पैदल परिक्रमा के बाद प्रदेश में दिग्विजय सिंह का कद बड़ा होने की चर्चा थी, लेकिन उन्होंने स्वयं ही चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया| वहीं प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ के आगे आने से दिग्विजय किनारा होते दिख रहे हैं| इसके भी कई कारण है| भाजपा ने चुनाव में दिग्विजय काल को मुद्दा बनाया है, जिसके चलते दिग्विजय सिंह अधिकतर कार्यक्रमों से दूर ही रहे हैं और उनके ज्यादा होर्डिंग पोस्टर भी नहीं मिल रहे हैं| हालांकि पार्टी की बैठकों में दिग्विजय की भूमिक बनी हुई है| स्क्रीनिंग कमेटी की बैठकों में दिग्विजय बाकायदा जमे हुए हैं| पिछले दिनों एक वीडियो में दिग्विजय कहते दिखे थे कि उनके रैली में जाने से वोट कट जाते हैं, अब यह चिट्ठी वायरल हो गई है, जिसमे खुद की उपेक्ष और प्रत्याशी चयन प्रक्रिया पर भी गंभीर सवाल उठाये गए हैं| इस पत्र के वायरल होने से चर्चाओं का बाजार गर्म है, हालांकि दिग्विजय ने इसे फर्जी बताकर कर कहा है यह मैने नहीं लिखा|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *