*जनआग्रह रैली का हुआ आयोजन*

*जनआग्रह रैली का हुआ आयोजन*

बिहार जिला बेतिया ।स्थानीय समहरणालय के मुख्य द्वार पर सोमवार को ईवीएम पर प्रतिबंध लगाने और एक राष्ट्र एक शिक्षा नीति लागू करने समेत नौ सूत्री मांगों के समर्थन में जनआग्रह रैली का आयोजन किया गया। जिसमें पूर्वी चंपारण, गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण के सभी प्रखंडों से बड़ी संख्या में महिला पुरुषों ने भाग लिया ।रैली में विभिन्न जगहों से आने वाले लोगों ने हाथ में नीला झंडा लिए नारा लगाते हुए जुलूस के रूप में मनाने के मुख्य द्वार पर पहुंचे डॉ बाबासाहेब आंबेडकर के मान वंदना के साथ ही सभा की कार्रवाई प्रारंभ की गई ।रैली को संबोधित करते हुएबहुजन महासभा के प्रदेश के संग पाल सह प्रवक्ता ने कहा कि देश में अमन चैन के लिए सभी नागरिकों का संविधान और सरकारी तंत्र में भरोसा अनिवार्य है और सुरक्षा नहीं मिलता है व्यवस्था स्वाभाविक है ।आज शिक्षा और वोट का अधिकार सरकारी शिक्षा का निजीकरण करके बहाना और जटिल बनाया जा रहा है ।शिक्षा की खरीद बिक्री सरकारी सहयोग से हो रहा ह।ै वह पैसे वालों के हाथ में शिक्षा कों खुलेआम बेचा जा रहा है ।गरीबों के शिक्षा के दरवाजे बंद किए जा रहे हैं। शिक्षा के संवैधानिक अधिकार छीनने का सरकारी षड्यंत्र है विश्वास खो चुके ईवीएम जिसे पूरे दुनिया ने नकार दिया उसे चुनाव में प्रयोग करके नागरिकों के अधिकार को लूटा जा रहा है। पूरे देश में ईवीएम का विरोध होने के बावजूद आने वाले चुनाव ईवीएम से ही कराने की चुनाव आयोग की घोषणा चुनाव आयोग की बिकने और भ्रष्ट होने का प्रमाण है। आगे कहा कि हम जनागरह रैली के माध्यम से सरकार और चुनाव आयोग को सचेत एवं आग्रह करते हैं कि आने वाले चुनाव में अगर मतपत्र के जगह पर आया तो सभी बूथों पर ईवीएम को तोड़ा जाएगा ।तिरहुत प्रमंडल के संरक्षी रवि शेखर ने कहा कि देश में लोकतंत्र नाम की कोई चीज नहीं बची है। लोकतंत्र के चारों सतंभ खास विचार एवं जाति के गुलाम हो चुका है ।लोकतंत्र के नाम पर सिर्फ नाटक हो रहा है। सभा मोहन प्रसाद, गौतम प्रभु भगत ,मुन्नी लाल प्रसाद ,अरविंद गुप्ता ,मोहम्मद औजार ,जय राम सिकंदर भारती ,कपिल देव, प्रकाश, रामविलास साहनी, विजेंद्र शर्मा आदि लोगों ने संबोधित किया। अध्यक्षता नगीना राम ने किया जबकि संचालन प्रकाश ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *