अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है सांसद का गोद लिया हुआ गांव- लालचंद गुप्त

अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है सांसद का गोद लिया हुआ गांव- लालचंद गुप्त
—————————————-
कांग्रेस ने मीडिया को दिखाई सांसद के गोद गांव कारवाही की जमीनी हकीकत
—————————————-
मध्य प्रदेश जिला सीधी- सीधी जिले की करवाही गांव जिसे सांसद रीती पाठक ने 5 वर्ष पूर्व गोद में लेकर आदर्श ग्राम बनाने का संकल्प लिया था वह गांव आज मूलभूत सुविधाओं का मोहताज है | जिस गांव को आदर्श ग्राम के रूप में प्रस्तुत किया जाना था वह आज साधारण ग्राम से भी बदतर स्थिति में पहुंचकर अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है |उक्त आशय का आरोप हाल ही में भाजपा छोड़कर कांग्रेसमें आए पूर्व भाजपा अध्यक्ष लाल चंद्र गुप्त ने मीडिया के समक्ष व्यक्त किए |उन्होंने पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में कहा कि पार्टी छोड़ने का एक बड़ा कारण सांसद का भ्रष्टाचार भी है उन्होंने कहा कि करवाही गांव मे 11लाख 6हजार का वृक्षारोपण कराया गया जिसमें एक भी वृक्ष नहीं लगाए गए |पूरी की पूरी राशि भ्रष्टाचार की भेट चढ़ गई | ग्यारह लाख का समतलीकरण भी कागज में कराया गया| उन्होंने कहा कि अस्पताल के सामने पहले ही स्टेडियम फिर तालाब बनाने की बात कही गई लेकिन वर्तमान समय में वहां कुछ भी नहीं है |उन्होंने मीडिया को सांसद द्वारा बनवाया गया तालाब भी दिखाया जिसमें बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार दिखाई देता है |श्री गुप्त ने कहा कि आदर्श ग्राम के नाम पर सांसद द्वारा 5 वर्ष में लगभग 20 करोड़ का घोटाला किया गया है |उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश में भी भाजपा की सरकार होने के बावजूद भी सांसद द्वारा विकास के नाम पर केवल भ्रष्टाचार किया गया है |उन्होंने कहा कि जब मैं पार्टी में था तब यह बात उठाई थी 5 साल में ऐसा कौन सा काम है जिसको लेकर हम जनता के बीच में दोबारा जाएंगे इसका जवाब सांसद द्वारा नहीं दिया गया था| उन्होंने कहा कि भाजपा आज अपने सिद्धांतों से भटक गई है| उन्होंने सांसद रीती पाठक से आदर्श ग्राम में खर्च की गई राशि का श्वेत पत्र जारी करने की मांग की |मीडिया को साथ लेकर लालचंद गुप्ता एवं जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रदीप सिंह दीपू ने आदर्श ग्राम करवाही के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया जिसमें पीसीसी रोड एवं डब्ल्यूबीएम रोड पूरी तरह से जर्जर पाई गई काम के नाम पर केवल लीपापोती एवं घोटाला दिखाई दिया| ग्रामीणों ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास का एक भी मकान पूरा नहीं हुआ है |पूरे गांव में व्यापक पैमाने पर मजदूरों की मजदूरी भुगतान बकाया है | खाद्यान्न भी हितग्राहियों को नहीं मिल रहा है| पेयजल की कोई व्यवस्था नहीं है| इस दौरान ग्राम पंचायत के पंच रमेश प्रजापति ने बताया कि ग्राम पंचायत की बैठक नहीं होती है| पूरा कार्य फर्जी तरीके से किया जाता है |पूरे गांव में पानी की भारी किल्लत है |आदर्श ग्राम में एक भी नल की टोटी नहीं है |इसी तरह से ग्राम पंचायत के दूसरे पंच राजीव लोचन सिंह ने बताया कि इस ग्राम पंचायत में कितना पैसा किस योजना में आया इसकी कोई जानकारी नहीं दी जाती| जितना भी कार्य आदर्श ग्राम में हुआ है उसकी पूरी मजदूरी बकाया है |काम के नाम पर इस ग्राम पंचायत में केवल घोटाला हुआ है |आदर्श ग्राम की एक अन्य महिला विद्यावती गौतम ने बताया कि किसी भी योजना का लाभ नहीं मिला |मेरा घर गिर गया उसका पैसा भी नहीं मिला |मेरे पास 1 एकड़ से कम जमीन है इसके बाद भी आवास नहीं मिला |कोटे से गल्ला भी नहीं मिलता है |पत्रकारों से चर्चा करते हुए लाल चंद्र गुप्त ने कहा की यह बातें यदि मैं सीधी से करता तो किसी को भरोसा नहीं होता इसलिए मैं मीडिया को लेकर सांसद के आदर्श ग्राम की जमीनी हकीकत का पर्दाफाश करने आया हूं |उन्होंने कहा कि आदर्श ग्राम के नाम से सांसद रीती पाठक ने जिस तरह से लोगों के साथ धोखा किया है उसका खामियाजा उन्हें आगामी चुनाव में अवश्य भुगतना पड़ेगा| इस दौरान मीडिया के साथियों के साथ ही बड़ी संख्या में आदर्श ग्राम कारवाही के ग्रामीण जन मौजूद रहे तथा आदर्श गांव की सच्चाई बयां किए|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *