रेत माफियाओं के संरक्षक बनने के बाद एसडीएम भाजपा नेताओं के वाहनों पर रहम आम लोगों पर जुल्मों सितम

रेत माफियाओं के संरक्षक बनने के बाद एसडीएम भाजपा नेताओं के वाहनों पर रहम आम लोगों पर जुल्मों सितम

मध्य प्रदेश जिला सीधी पिछले पंद्रह वर्षो से अवैध उत्खनन के लिए बदनाम हो चुके सीधी जिले मे किस कदर एस डी एम जैसे पद के जिम्मेदार व्यक्ति अपनी नैतिक जिम्मेदारी से विमुख होकर राज्य सरकार को राजस्व का चूना लगाने मे मस्त है इसका खुलासा एसडीएम चुरहट और पत्रकार अंबिकेश सिंह की व्हाट्सप चैटिंग से चल रहा है भाजपा के नेताओ और रेत माफियाओ के गढ चुरहट मे तो लग रहा है जैसे अधिकारी भाजपा के नेताओ की चाटुकारिता और चंद सिक्को की खनक मे अपनी जिम्मेदारी से मुह मोड चुके है और अवैध उत्खनन का काला कारोबार एसडी एम जैसे अधिकारी निज संरक्षण मे करवा रहे हैं मामला पुलिस चौकी पिपराव थाना रामपुर नैकिन का है जहा अवैध उत्खनन मे लगे भाजपा जिला संगठन मंत्री रामकुमार साहू के दो हाइवा एवं अजय मिश्रा युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष का ट्रैक्टर अवैध रेत उत्खनन का परिवहन करते पकडे गये थे परंतु एस डीएम चुरहट के द्वारा भाजपा नेताओ के दवाब मे आकर चंद रुपयो के लालच मे उन्हे छोड देना लगभग इसी ओर इशारा कर रहा है कि भाजपा संगठन एवं भाजपा के नेता जिले मे अवैध उत्खनन की काली कमाई मे संलिप्त है साथ ही रेत माफियाओ को इनका बरदहस्त प्राप्त है जिले की अपराधिक गतिविधियों में रेत माफियाओ की कितनी संलिप्तता है पुराने अपराधिक दस्तावेजो को खंगालने से पता चल जाएगा अगर अच्छी तरह से सरकार द्वारा जाच कराई जाय तो एसडीएम साहब की भाजपाईयो पर मेहरबानियो का खुलासा हो जाएगा

*कलेक्टर साहब को धोखा देते जिम्मेदार अधिकारी*

कुछ दिनो पूर्व ही सीधी वर्तमान कलेक्टर अभिषेक सिंह को रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र मे अवैध रेत उत्खनन की जानकारी मिली थी तो कलेक्टर सीधी द्वारा तत्काल अवैध उत्खनन पर नियंत्रण लगाने हेतु राजस्व विभाग से टीम बनाई गई थी जिसमे तीन नायब तससीलदारो चुरहट रामपुर नैकिन एवं हनुमानगढ को इस काले कारोबार को रोकने हेतु टीम बनकर कार्यवाही हेतु जिम्मेदारी दी गई थी परंतु तीनो नायब तहसीलदारो के द्वारा अपनी जिम्मेदारी के विरुद्ध आचरण किया जा रहा है और भाजपा नेताओ के इशारे पर अवैध रेत उत्खनन के ऊपर कार्यवाही के नाम पर कोरमपूर्ती की जा रही है जिसके कारण धडल्ले से अवैध रेत उत्खनन का कार्य चल रहा है

*रेत माफियाओ की मुखबिरी मे लगा पुलिस प्रशासन*

थाना रामपुर नैकिन अंतर्गत पिपराव खड्डी चौकी एवं रामपुर थाने मे पदस्थ स्टाफ रेत माफियाओ और भाजपा नेताओ के इशारे पर चंद सिक्को के लिए अपना ईमान बेच इस गोरखधंधे की मुखबिरी मे लगा है जब कि आए दिन वरिष्ठ अधिकारियो को जब इन भ्रष्ट पुलिस कर्मियो की शिकायत मिलती है तो इनका तबादला कर दिया जाता है पर इस कारोबार की कमाई के कारण और भाजपा नेताओ के संरक्षण के कारण पुन: उन्ही पुलिस कर्मियों की वापसी हो जाती है और फिर वो सरे आम थाने से लेकर सोन नदी घाट तक रेत माफियाओ की मुखबिरी कर इन दबंग व्यभिचारी अपराधियो का एहसान चुकाते नजर आते हैं

*घडियालो के ऊपर जीवन का संकट*

सीधी जिले की जीवन दायिनी सोन नदी का सीना चीरकर हो रही अवैध रेत निकाशी के कारण आरक्षित सोन घडियाल अभयारंण्य मे पल रहे घडियालो के जीवन पर भी संकट के बादल छाए हुए है उनके प्रजनन के समय एवं उनके रहवास वाले इलाको से रेत उत्खनन के कारण उनकी जान पर बन आई है और भाजपा नेताओ की साठ गाठ से रेतमाफिया अपनी हरकतो से बाज नही आ रहे है

*भाजपा विधायक के इशारे पर हो रहा अवैध उत्खनन*

जिले मे अवैध उत्खनन की खबरे तो आए दिन आ रही है पर वर्तमान चुरहट के भाजपा विधायक के नाम पर कुछ दलालो का पेशा ही है कि अवैध उत्खनन के कारोबार मे लगे वाहनो एवं लोगो को संरक्षण प्रदान करना और वाहन पकडे जाने पर युद्ध स्तर पर वाहन को बचाने के लिए प्रयास करना और अगर ना हो सके तो विधायक जी के निज सचिव और विधायक जी से वाहन छोडने के लिए फोन करवाना इस तरह के आडियो भी सोसल मीडिया मे छाए हुए हैं जिसके कारण उक्त कारोबार मे विधायक जी की संलिप्तता नजर आती है पर ये जाच का विषय है लेकिन ये कहना गलत नही होगा कि अवैध कारोबारियो को विधायक जी या उनके नाम पर खुला संरक्षण दिया जा रहा हैं

*दलालो का है आतंक*

कुछ वर्षो से थाना रामपुर नैकिन मे पत्रकारिता के नाम पर अवैध रेत के कारोबार की दलाली कर रहे लोगो का डर भी थाना रामपुर नैकिन मे वहा पदस्थ पुलिस कर्मियों के गले की फास है दलालो की बात ना मानने वाले पुलिस कर्मियो को दलालो द्वारा अपने आकाओ के माध्यम से पत्रकारिता की धौस दिखाकर पुलिस कर्मियों का तबादला करवाया जाता रहा है रा फिर वरिष्ठ अधिकारियो से प्रताणित करवाया जाता रहा हैं जिसके कारण यहा आने वाले जादातर पुलिसकर्मी तबादले के डर के कारण उक्त कारोबार मे संलिप्त हो जाते हैं और उन्ही दलालो की हाथ की कठपुतली बन रह जाते हैं

*रंक से राजा बने माफिया और*

कल तक जिनके पास सुबह से लेकर शाम तक भोजन नहीं नसीब होता था वह आज लग्जरी कार से चल रहे हैं और ट्रैक्टर हाईवा रखकर अवैध रेत की तस्करी करते हैं एवं आलीशान होटलों में पार्टी मनाते हैं रेत की कमाई से चल रहा है पूरा खर्च अगर प्रशासन द्वारा इनकी जांच कराई जाए तो कई अन्य शहरों में आलीशान बंगले एवं स्टोन क्रेशर भी डाली गई है जो की रेत की कमाई पूरा व्यापार करते हैं।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *