*बेहतर पुलिसिंग में सीधी जिले नें रचा कीर्तिमान। जमोड़ी थाना पूरे प्रदेश में नंबर वन तो कोतवाली थाने को मिली तीसरी रैंक- सीधी पुलिस अधीक्षक का देखें लाइव वीडियो

*बेहतर पुलिसिंग में सीधी जिले नें रचा कीर्तिमान। जमोड़ी थाना पूरे प्रदेश में नंबर वन तो कोतवाली थाने को मिली तीसरी रैंक- सीधी पुलिस अधीक्षक का देखें लाइव वीडियो

नवागत पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत ने आते ही 1 महीने में सीधी जिले की पुलिस की पूरी तस्वीर बदल कर रख दी है । जहां 150 से अधिक गुमशुदा लोगों को “ऑपरेशन फाइंड आउट” चलाकर 1 महीने के अंदर तलाश कर उनके परिजनों से मिलवाया वहीं “ऑपरेशन संजीवनी” चलाकर नशे के कारोबार को ध्वस्त करने का अभियान भी चरम पर है। पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत की इस मेहनत का ही नतीजा है कि सीधी जिले का जामोड़ी थाना बेहतर पुलिसिंग के लिए पूरे प्रदेश में पहले स्थान पर है वहीं सिटी कोतवाली को पूरे प्रदेश में तीसरा स्थान अपनी बेहतर पुलिसिंग के लिए मिला है।
*मध्य प्रदेश के 1117 थानों में से सीधी जिले के सात थाने टॉप हंड्रेड में*। मध्यप्रदेश में 1117 थानों के बीच टॉप टेन में सीधी के दो थाने हैं वही सीधी के सात थानों को टॉप हंड्रेड में स्थान मिला है। इसमें जमोडी पहले स्थान पर जबकि कोतवाली 3 वें ,कमर्जी 36 वें ,मझौली 40 वें, बहरी 41 वें ,अमिलिया 49 वें, और कुसमी 64वें नंबर पर है।
*कुशल नेतृत्व और सतत निगरानी रहा कारण।*
नवागत पुलिस अधीक्षक ने आते ही थानों की कार्यप्रणाली पर ध्यान देना प्रारंभ कर दिया। वर्षों से लंबित आपराधिक मामलों के निराकरण हेतु थानों की कार्यशैली को चुस्त-दुरुस्त कर सीधी पुलिस ने 1 माह के भीतर ही अपनी शानदार पुलिसिंग से प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त कर लिया।
*सीसीटीएनएस रैंकिंग में जमोडी थाने ने प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है साथ ही सीधी जिले के सात थाने टॉप हंड्रेड में शामिल है सभी को बधाई। अपराधों को रोकने और लंबित आपराधिक मामलों के निराकरण में इसी तरह से तत्परता से काम करें।”
__”पंकज कुमावत,पुलिस अधीक्षक सीधी।

क्या है एनसीआरबी और सीसीटीएनएस…?
राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) भारत सरकार गृह मंत्रालय के साथ संलग्न एक कार्यालय है नई दिल्ली स्थित इस ब्यूरो का प्रमुख उद्देश्य भारत की पुलिस को आधुनिकीकरण व सूचना प्रौद्योगिकी में सशक्त करना है
यह ब्यूरो देश भर में अपराध अपराधी सूचना प्रणाली (CCIS – CRIME CRIMINAL INFORMATION SYSTEM) के अंतर्गत प्रत्येक राज्य अपराध रिकार्ड ब्यूरो एवं जिला अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो में 762 सर्वर आधारित कंप्यूटर सिस्टम स्थापित कर, अपराध अपराधियों एवं अपराधियों की संपत्ति से संबंधित राष्ट्रीय स्तर के डेटाबेस को व्यवस्थित कर रहा है
साथ ही साथ किसी ब्यूरो के द्वारा सीसीटीएनएस ( क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम हिंदी में अपराध एवं अपराधी खोज नेटवर्क और प्रणाली) को भी कार्यान्वित कर रहा है जो भारत सरकार के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस योजना के अंतर्गत एक मिशन मोड परियोजना है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *