*वरिष्ठ उप पंजीयक का कारनामा हुआ उजागर* *मरे हुए इंसान को जिंदा दिखाकर किया रजिस्ट्री*

*वरिष्ठ उप पंजीयक का कारनामा हुआ उजागर*
*मरे हुए इंसान को जिंदा दिखाकर किया रजिस्ट्री*

*दर-दर भटक रही पीड़िता ,एएसपी ने दिया कार्रवाई का आदेश*

मध्य प्रदेश जिला सीधी जिले का नाम सीधी है लेकिन सरकारी काम बहुत ही टेढ़ा है। इंसानियत को मार चुका वरिष्ठ उप पंजीयक मंगल सिसोदिया का कारनामा उजागर हुआ है जहां साल भर पहले मृत इंसान को जिंदा दिखाकर मृतक के जगह में किसी अन्य इंसान को खड़ा करके रजिस्ट्री कर दिया। जहां पीड़ित को पता लगते ही दिन में ही अंधेरा छा गया इसका खुलासा तब हुआ जब दो हफ्ता पहले आरोपियों ने धमकी देना शुरू किया शुक्रवार को दोपहर में पीड़िता पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायत करने पहुंची। जहां अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजूलता पटले ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिए हैं।

*यह है पूरा मामला*
जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूरी स्थित मड़वास चौकी अंतर्गत महखोर का है।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजूलता पटले को दिए शिकायती आवेदन के अनुसार पीड़िता ने बताया कि महखोर के रामअवतार तेली की पुत्रियां हूं मेरे पिता की मृत्यु 16 वर्ष पहले वा माता बैजनथुया की मृत्यु 10 अक्टूबर 2019 को महखोर में हो चुकी है। महखोर में स्थित आराजी क्रमांक644 रकवा 0.1600 हेक्टर 660 रकवा 0.0500 हेक्टर .670 रकवा 0.2400 हेक्टर की भूमि मेरे भाई बृजनंदन पिता रामअवतार तेली जो मंदबुद्धि का है उसके नाम था। साथ राजस्व अभिलेख ऋण पुस्तिका में नाम अंकित रहा मेरी माता बैजनथुआ कि मृत्यु 10-10-2019 को होने के पश्चात नाम नहीं चढ़ पाया था।मूल भू अधिकार एवं ऋण पुस्तिका 0 क्रमांक 47865 भाग 1 तत्कालीन हल्का पटवारी जो हम लोगों को दिया था वह सुरक्षित है। मेरे गांव का सीता राम पिता पुषई, राजेश साहू पिता मोलई, आशा पत्नी सीता राम साहू ,हल्का पटवारी संतोष कुमार साकेत पटवारी हल्का महखोर से मिलकर कूट रचित फर्जी भू अधिकार एवं ऋण पुस्तिका एल क्रमांक 96326 चंद्रमणि सोनी तत्कालीन तहसीलदार मझोली से मिलकर दिनांक 10-10-2019 की मृतक बैजनथूआ का फोटो प्रमाणित करते हुए तैयार कर 1/ 4, 1/4 भाग का अंश निर्धारण दिनांक 20,6, 2020 को पुरानी ऋण पुस्तिका क्रमांक 0 को जमा करना लेख करते में जारी कर दिया गया हैं। बैजनथुआ का आधार कार्ड बृजनंदन के माध्यम से आसा पति सीता राम जो पड़ोसी है चुरा ले गया। गांव के खेत में जिनका रजिस्ट्री दिखाया गया है वह खेत में खड़ा होकर फोटो नहीं खींचवा कर दूसरे खेत में जाकर गलत फोटो खिंचवा कर गांव में महेंद्र कुमार मिश्रा सेवा प्रदाता रजिस्ट्री लेखक उप पंजीयक कार्यालय सीधी से मिलकर मृतक बैजनथुआ के स्थान पर वृद्ध महिला शुकवरिया पत्नी रामनाथ तेली ग्राम महखोर को मृतक बैजनथुआ के आधार कार्ड के आधार पर गलत पहचान पत्र बनाकर सीधी स्थित वरिष्ठ उप पंजीयक मंगल सिंह सिसोदिया ने अपने से फर्जी आधार कार्ड के फोटो व सुखवरिया पत्नी रामनाथ तेली का मिलान नहीं करते हुए आरोपी आशा पति सीताराम राजेश साहू ने गलत व झूठी साक्ष्य देते हुए रजिस्ट्री लेखक महेंद्र कुमार मिश्रा के माध्यम से मंगल सिसोदिया ने अवैध बतौर घूस लेकर फरियादी की भूमि ई पंजीयन संख्या एमपी418412020ए1501629 बीते 21-8-2020 को पंजीकृत विक्रय बिना रुपया दिए प्रतिफल विहीन बृजनंदन के माध्यम से निष्पादित कर दिए गया जो बीते 27 सितंबर को प्रिंट हो गया है।

*ऐसे हुआ खुलासा*
पूरे मामले की जानकारी किसी प्रकार से पीड़िता को नहीं हुई गांव में आशा पति सीताराम का रजिस्ट्री का गवाह बना राजेश साहू ने एक हफ्ते बाद धमकी देने लगा तब पीड़िता के दिन में ही अंधेरा छा गया बताया गया कि पीड़िता न्याय पाने के लिए दर-दर भटकते हुए आरोपी सीताराम साहू जिसने कूट रचित व फर्जी तरीके से रजिस्ट्री क्रेता गवाह लेखक व उप पंजीयक के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज करवाने के लिए बीते शुक्रवार को दोपहर 12:00 बजे के लगभग पुलिस अधीक्षक के ऑफिस पहुंची है।

*देने लगे हैं जान से मारने की धमकी*
पीड़िता ने बताया कि मामला उजागर होते ही मैं पुलिस के चक्कर काटने लगी थी लेकिन किसी भी तरह राहत नहीं मिला जहां आरोपी दिन रात गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देता है तथा पटवारी के दम पर खेत को हड़प लेने की बातें करता है।

*यह बनता है अपराध*
सभी आरोपियों के खिलाफ गंभीर प्रवृत्ति का अपराध होकर भारतीय दंड संहिता की धारा 419 ,420 ,467 ,468 ,471/34 के तहत दंडनीय है। वही पूरे मामले को लेकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजू लता पटले जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिए हैं।

*इनका कहना है*
मड़वास चौकी अंतर्गत महाखोर गांव से यह मामला मेरे पास आया है पीड़िता आई हुई हैं जहां उनके द्वारा बताया गया कि उनकी माता का साल भर पहले की मृत्यु हो चुकी है वहीं आरोपी गढ़ फर्जी रिकॉर्ड बना कर रजिस्ट्री करवा लिए हैं तब संबंध में मेरे द्वारा संबंधित अधिकारियों को जांच के लिए भेजा जा रहा है तथा सभी दस्तावेज हम एकत्रित करेंगे जो भी तथ्य सामने आएंगे कार्रवाई की जाएगी

*अंजू लता पटले*
*अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीधी*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *