सुशांत सिंह राजपूत का मामला आखिर क्यों ठंडे बस्ते में

सुशांत सिंह राजपूत का मामला आखिर क्यों ठंडे बस्ते में

निरंकार भास्कर अश्वनी सिंह

बिहार बेतिया जहां पिछले महीने सुशांत सिंह राजपूत के हत्या कांड को लेकर बिहार से लेकर मुंबई तक की राजनीति गरमा गई थी वहीं बिहार में सत्ताधारी पार्टी भाजपा और जदयू कि नेता बड़े-बड़े ध्यान दे रहे थे कि हम सुशांत सिंह राजपूत की सुसाइड हत्याकांड का पर्दाफाश करा की रहेंगे बिहार दूसरे दलों से जुड़े राजनेता भी लंबी लंबी ध्यान दे रहे थे मामला इतना जोर पकड़ा पूरे मामले की जांच सीबीआई के हाथों में चली गई और सीबीआई ने भी पूरे जोर-शोर से मामले को जांच करना शुरू कर दिया परंतु आखिर क्या हो गया कि चुनाव आते जाते इस पूरे मामले में सीबीआई शांत दिख रही है और लंबी लंबी बयान देने वाले राजनीतिक पार्टियों के नेता भी शांत हो गए हैं कहीं ऐसा तो नहीं चुनाव को लेकर अपनी अपनी वाह वही दिखाने के लिए यह राजनीतिक दलों से जुड़े नेता कर रहे थे अब क्यों चुप बैठे इस पूरे मामले पर कोई क्यों नहीं आवाज उठा रहा कहीं ऐसा तो नहीं कि बिहार का शान का है जाने वाला सुशांत सिंह राजपूत के पूरे मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया या इस पूरे मामले पर बोलने से परहेज कर रहा हूं आप तो इस पूरे मामले जहां पूरी तरह शांति दिख रही है ऐसे में क्या सुशांत सिंह के परिवार वालों को न्याय मिल सकेगा या शांत बैठ कर सीबीआई कोई इस हत्याकांड से बड़ा रहस्य का पर्दाफाश तो करने वाली नहीं है आप तो या मामला सीबीआई पर ही निर्भर है की आखिर सच क्या फिर भी बिहार की जनता सच जानने के लिए बेताब है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *